महिला मंडल इचलकरंजी के विविध आयोजन :




संगठन समाचार : अध्यक्षीय मनाव एवं शपथ ग्रहण
तेरापंथ महिला मंडल इचलकरंजी के मनाव संपन्न हुए एवं निम्नानुसार नयी कार्यकारिणी का गठन हुआ.
अध्यक्षा : सुनीता गिडिया, उपाध्यक्ष (प्रथम): भारती संकलेचा, उपाध्यक्षा (द्वितीय): सीमा डागा, मंत्री: जयश्री जोगड़, सहमंत्री : संगीता पटवारी, कोशाध्यक्ष : रानीदेवी छाजेड़
नवनिर्वाचित कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह समणी श्री मंजूप्रज्ञाजी आदि समणी वृन्द ४ के सान्निध्य में स्थानीय तेरापंथ भवन में रखा गया. इस अवसर पर “नारी स्वावलंबन” को महत्त्व देते हुए महिलाओं को महिला मंडल द्वारा सिलाई मशीन भेंट की गयी.

महिला मंडल इचलकरंजी के विविध आयोजन :
मंडल इचलकरंजी द्वारा आत्मानंद उत्सव का आयोजन किया गया. समणी मंजूप्रज्ञाजी के सान्निध्य में आयोजित इस कार्यक्रम में समणीजी ने फरमाया कि – “ आत्मा के भीतर रह कर जो आनंद की प्राप्ति होती है वह महोत्सव जैसी होती है.
अभिनव सामयिक , सामूहिक आयम्बिल तप अनुष्ठान, प्रतियोगिताए जैसे कि नमस्कार महामंत्र सजावट प्रतियोगिता, मुख-वस्त्रिका सजावट प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया गया. जिसमे सभी ने उत्साहपूर्वक भाग लिया.

स्वाधीनता दिवस के उपलक्ष में महिला मंडल द्वारा नवचैतन्य अनाथालय के बच्चों को अल्पाहार, मिठाइया एवं खेल सामग्री वितरित की गयी.  

श्री उत्सव का आयोजन : नवरात्रि एवं दीपावली के पावन अवसर पर महिला मंडल द्वारा त्रिदिवसीय “श्री उत्सव” का आयोजन किया गया जो कि अपने आप में एक अद्वेतीय प्रयास रहा. समाज की नारी शक्ति के स्वावलंबन को मुखर बनाने एवं उनके कार्यो को प्रोत्साहित करने की दृष्टी से आयोजित इस उत्सव में आस-पास के क्षेत्रो कोल्हापुर, सांगली, माधवनगर, जयसिंहपुर, एवं स्थानीय स्तर पर कार्यरत बहिनों द्वारा अनेक स्टाल्स लगाये गए जिसमे साडी, ड्रेस मेटेरियल, गिफ्ट आयटम्स एवं कार्ड्स, डेकोरेटिव आयटम्स, बेडशीट और होम फर्निशिंग, बच्चों के सामान, खाने-पीने के स्टाल्स, दीपावली सामग्री स्टाल्स आदि मुख्य थे.
इस उत्सव का उद्घाटन समारोह समणी विपुलप्रज्ञा जी एवं समणी आदर्शप्रज्ञाजी के सान्निध्य में एवं इचलकरंजी नगर परिषद् की नगराध्यक्षा सौ. सुमन पवार की प्रमुख उपस्थिति में हुआ. उत्सव की संयोजिका शारदा सुराना के साथ पुरी महिला मंडल टीम ने श्रम नियोजन कर इसे सफल बनाया. स्थानीय सभा, तेयुप, किसर मंडल एवं कन्या मंडल का इसमें विशेष सहयोग प्राप्त हुआ. इस उत्सव के अनतर्गत रंगोली, कोटन टेडी बियर आदि प्रतियोगिताए भी आकर्षण का केंद्र बनी.

व्यक्तित्व विकास कार्यशाला : समणी निर्देशिका मंजूप्रज्ञाजी एवं समणी वृन्द ४ के सान्निध्य में द्विदिवसीय व्यक्तित्व विकास कार्यशाला का आयोजन किया गया. इस कार्यशाला में प्रशिक्षक के रूप में चेन्नई से समागत सौ. अनिता चौपड़ा एवं सौ. बबिता चौपड़ा ने विभिन्न सत्रों के दौरान संभागियो को व्यक्तित्व विकास के विभिन्न पहुलुओ से परिचित करवाया. कैसे चलना, कैसे बोलना, कैसे सोना, कैसे खाना, बालको में संस्कार निर्माण, स्वावलंबन आदि अनेक विषयों पर संभागियो ने प्रशिक्षण प्राप्त किया.

अनाथ बालको को स्कूली सामग्री : दि. ०५.११.१३ को आचार्य तुलसी जन्म शताब्दी समारोह के अंतर्गत महिला मंडल इचलकरंजी द्वारा नवचैतन्य अनाथालय के करीब 90 बच्चो को स्कुल युनिफोर्म वितरित किये गए. इस अवसर पर अनेक महिला मंडल सदस्याओं ने भी अपने ओर से बच्चो को कपडे, खिलौने आदि सामग्री दी. महिला मंडल के इस उपक्रम को महिला सदस्याओं ने एक अच्छा माध्यम बताते हुए कहा कि- इससे जरुरतमंद बच्चो एवं हमारे बीच संपर्क बना और हम कुछ अतिरिक्त वस्तुए जरुरतमंदों को बांटकर खुशी महसूस हुई.

No comments:

Post a Comment