तेमम इचलकरंजी द्वारा युवती सम्मेलन का हुआ आयोजन

इचल.। 9 अग.। स्थानीय तेरापंथ भवन में साध्वीश्री मधुस्मिताजी आदि ठाणा 7 के पावन सान्निध्य में महिला मंडल द्वारा युवती सम्मेलन का आयोजन किया गया। सफलता के सूत्र विषय पर आयोजित इस सम्मेलन में संभागी युवतियों को उद्बोधित करते हुए साध्वीश्री मधुस्मिताजी ने फ़रमाया कि- उपजाऊ भूमि के बिना जैसे लहलहाती फसल की कल्पना नहीं की जा सकती वैसे ही गुणों की सम्पदा के बिना सफलता की आशा भी नहीं की जा सकती । व्यक्ति में सहनशीलता, सकारत्मक दृष्टिकोण, परिश्रमशीलता, समानता, विनम्रता जैसे गुण विकसित हो एवं समय के साथ परिस्थितियों का आकलन करते हुए तदनुरूप कार्य करने की क्षमता का विकास हो तो वह निश्चित ही सफलता के ऊँचे शिखर को छु सकता है। 

साध्वीश्री स्वस्थप्रभाजी, साध्वीश्री सहजयशाजी एवं साध्वीश्री मल्लिप्रभाजी ने गीतिका, प्रश्नोत्तरी एवं वक्तव्य के माध्यम से विषय का प्रतिपादन किया। 

इससे पूर्व सम्मेलन का शुभारंभ महिला मंडल की बहिनों द्वारा मंगलाचरण के साथ हुआ। महिला मंडल अध्यक्षा सुनीता गिड़िया ने स्वागत वक्तव्य किया। भारती संकलेचा, शिल्पा बाफना आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए। आभार ज्ञापन उपाध्यक्षा सीमा डागा ने किया। कार्यक्रम का सूत्र संचालन मंत्री जयश्री जोगड़ ने किया।




No comments:

Post a Comment